Read NIRMOOLAK KRANTI by Mandar Gangele Dildeep Singh Sushant Panda Vinod Kumar Prasad Patnayak Bhakt Ranjan Online

nirmoolak-kranti

डोगा को इस बार अपनी अकाटय चालों से बुरी तरह मात दे चुका है निरमूलक! अब मुंबई पहुंच चुकी है तबाही की कगार पर! और उसे रोक सकने वाला डोगा है बेहोश! कया अब निरमूलक ला कर रहेगा 'निरमूलक करानति'?डोगा को इस बार अपनी अकाट्य चालों से बुरी तरह मात दे चुका है निर्मूलक! अब मुंबई पहुंच चुकी है तबाही की कगार पर! और उसे रोक सकने वाला डोगा है बेहोश! क्या अब निर्मूलक ला कर रहेगा 'निर्मूलक क्रान्ति'?...

Title : NIRMOOLAK KRANTI
Author :
Rating :
ISBN : 9789332427204
Format Type : Paperback
Number of Pages : 64 Pages
Status : Available For Download
Last checked : 21 Minutes ago!

NIRMOOLAK KRANTI Reviews